उर्मिला शुक्ल की रचनाएँ

बनानी है चिडिय़ा  नहीं अभी नहीं होगा अवसान अभी तो मुझे मांगना है आकाश से खुलापन और धरती से दृढ़ता…

2 months ago

शांति सुमन की रचनाएँ

ओस भरी दूब पर टहनी को चिन्ता है जड़ की जड़ को फूलों की इसी तरह से गुज़र-बसर चलता है…

2 months ago

शांति अग्रवाल की रचनाएँ

कद्दू की बारात  कद्दू जी की चली बरात, हुई बताशों की बरसात! बैंगन की गाड़ी के ऊपर बैठे कद्दू राजा…

2 months ago

आर. चेतनक्रांति की रचनाएँ

पैसे के बारे में एक महत्त्वाकांक्षी कविता के लिए नोट्स  मैं पैसे नहीं कमाता जब बहुत खुश होता हूँ, तब…

2 months ago

आनंदीप्रसाद श्रीवास्तव की रचनाएँ

मेढक किस तरह मेढक फुदकता जा रहा, देखने में क्या मजा है आ रहा! कूदते चलते भला हो किस लिए,…

2 months ago

अजित कुमार की रचनाएँ

उमस में  मई की उमस में अपने छोटे से कमरे की खिड़की और दरवाजों को दिन भर मजबूती से बन्द…

2 months ago

आत्मा की रचनाएँ

सोलह कला सरिस पंच दस हैँ बरिस सोलह कला सरिस पंच दस हैँ बरिस , चौदहोँ भुवन भरी दीपति विशाला…

2 months ago

आग़ा ‘शाएर’ क़ज़लबाश की रचनाएँ

बहार आई है फिर चमन में नसीम बहार आई है फिर चमन में नसीम इठला के चल रही है हर…

2 months ago

अहसान बिन ‘दानिश’ की रचनाएँ

कुत्ता और मज़दूर  कुत्ता इक कोठी के दरवाज़े पे भूँका यक़बयक़ रूई की गद्दी थी जिसकी पुश्त से गरदन तलक…

2 months ago