अबुल मुजाहिद ‘ज़ाहिद’

अबुल मुजाहिद ‘ज़ाहिद’ की रचनाएँ

गया तो हुस्न न दीवार में न  गया तो हुस्न न दीवार में न दर में था वो एक शख़्स…

3 months ago