अहद प्रकाश

अहद प्रकाश की रचनाएँ

छुपम-छुपैया  ताक-धिना-धिन मारे मैया जाड़े में, चट कर भागी दूध बिलैया जाड़े में! सिकुड़ी बैठी सोन चिरैया जाड़े में, काँप…

3 months ago