अहमद शनास

अहमद शनास की रचनाएँ

कुछ शफ़क़ डूबते सूरज की बचा ली जाए कुछ शफ़क़ डूबते सूरज की बचा ली जाए रंग-ए-इम्काँ से कोई शक्ल…

3 months ago