आले अहमद ‘सरूर’

आले अहमद ‘सरूर’ की रचनाएँ

आज से पहले तेरे मस्तों की ये आज से पहले तेरे मस्तों की ये ख़्वारी न थी मय बड़ी इफ़रात…

2 months ago