इंदुशेखर तत्पुरुष

इंदुशेखर तत्पुरुष की रचनाएँ

अनकहा रह जाएगा  यह मेरी आत्मा का नाद है जो तुम्हारी देह में बजकर विलीन हो जाना चाहता तुममें ही…

2 months ago