क़तील शिफ़ाई

क़तील शिफ़ाई की रचनाएँ

सारी बस्ती में ये जादू  सारी बस्ती में ये जादू नज़र आए मुझको जो दरीचा भी खुले तू नज़र आए…

2 months ago