कामिल बहज़ादी

कामिल बहज़ादी की रचनाएँ

आकाश की हसीन फ़ज़ाओं में खो गया आकाश की हसीन फ़ज़ाओं में खो गया मैं इस क़दर उड़ा की ख़लाओं…

2 months ago