कीरति कुमारी

कीरति कुमारी की रचनाएँ

वादा करके मेरे श्याम दग़ा दी तूने  वादा करके मेरे श्याम दग़ा दी तूने। गै़रों के रहके सारी रात गमा…

2 months ago