जावेद अख़्तर

जावेद अख़्तर की रचनाएँ

दर्द अपनाता है पराए कौन   दर्द अपनाता है पराए कौन कौन सुनता है और सुनाए कौन कौन दोहराए वो…

3 weeks ago