वाजिद

वाजिद की रचनाएँ

पद कहियो जाय सलाम हमारी राम कूँ।नैण रहे झड लाय तुम्हारे नाम कूँ॥कमल गया कुमलाय कल्याँ भी जायसी।हरि हाँ, 'वाजिद',…

2 months ago