विपिन कुमार शर्मा

विपिन कुमार शर्मा की रचनाएँ

आदत कभी भट्ठी में पिघलता लोहा भी मनमानी पर उतर आता है बन्दूक के बदले हँसिया में ढल जाता है…

11 months ago