विपिन कुमार शर्मा

विपिन कुमार शर्मा की रचनाएँ

आदत कभी भट्ठी में पिघलता लोहा भी मनमानी पर उतर आता है बन्दूक के बदले हँसिया में ढल जाता है…

1 month ago