श्रीकृष्ण शर्मा

श्रीकृष्ण शर्मा की रचनाएँ

तम में कोई नरभक्षी है यह सूरज है, चित्र फलक तक ! पेड़ गए भीतर बंगलों में, सिर्फ प्रदूषण है क़त्लों…

3 months ago