शाहिद मीर

शाहिद मीर की रचनाएँ

ऐ ख़ुदा रेत के सहरा को समंदर कर दे  ऐ ख़ुदा रेत के सहरा को समंदर कर दे या छलकती…

2 months ago