श्यामकुमार दास

श्यामकुमार दास की रचनाएँ

मैं बन जाऊँ तितली इधर घूमती, उधर घूमती इक नन्ही-सी तितली, जाने किसको ढूँढ़ रही है इक नन्ही-सी तितली। कभी…

2 months ago