श्यामसुंदर श्रीवास्तव ‘कोमल’

श्यामसुंदर श्रीवास्तव ‘कोमल’ की रचनाएँ

पीपल का पेड़ मेरे द्वारे बहुत पुराना, पेड़ खड़ा है पीपल का। मैं तो बैठ पढ़ा करता हूँ इसकी शीतल…

2 months ago