संत कुमार टंडन ‘रसिक’

संत कुमार टंडन ‘रसिक’ की रचनाएँ

अन्नू का तोता ‘बाबा, बाबा’ बोला पोता, ‘लाल, दुलारे तू क्यों रोता?’ ‘ला दो पिंजला, ला दो तोता बला नहीं,…

2 months ago