हरिश्चन्द्र

हरिश्चन्द्र की रचनाएँ

राधा श्याम सेवैँ सदा वृन्दावन वास करैँ राधा श्याम सेवैँ सदा वृन्दावन वास करैँ, रहैँ निहचिँत पद आस गुरुवरु के…

3 months ago