‘हसरत’ अज़ीमाबादी

‘हसरत’ अज़ीमाबादी की रचनाएँ

आश्‍ना कब हो है ये ज़िक्र दिल-ए-शाद के साथ आश्‍ना कब हो है ये ज़िक्र दिल-ए-शाद के साथ लब को…

3 months ago