हैदर अली ‘आतिश’

हैदर अली ‘आतिश’ की रचनाएँ

आइना सीना-ए-साहब-नज़राँ है कि जो था आइना सीना-ए-साहब-नज़राँ है कि जो था चेहरा-ए-शाहिद-ए-मक़सूद अयाँ है कि जो था इश्क़-ए-गुल में…

3 months ago