Raju Chandel

महावीर सरवर की रचनाएँ

गुम हुआ शहर गुम हुआ शहर हूं मैं लौटा दो मुझे ढूंढ़कर। मुझी को लौटा दो किसी तरह। चले गए…

56 mins ago

महावीर शर्मा की रचनाएँ

ज़िन्दगी में प्यार का वादा निभाया ही कहाँ है ज़िन्दगी में प्यार का वादा निभाया ही कहाँ है नाम लेकर…

60 mins ago

महावीर प्रसाद ‘मधुप’की रचनाएँ

साबरमती का संत देखी निज भारत की भारी दयनीय दशा, मर्म पे अचानक अचूक लगा नेज़ा था। प्यारी मातृभूमि को…

1 hour ago

महावीर प्रसाद द्विवेदी की रचनाएँ

कोकिल कोकिल अति सुंदर चिड़िया है, सच कहते हैं, अति बढ़िया है। जिस रंगत के कुँवर कन्हाई, उसने भी वह…

1 hour ago

महावीर उत्तरांचली की रचनाएँ

पाँव पाँव थककर भी चलना नहीं छोड़ते जब तक वे गंतव्य तक न पहुँच जाएँ... थक जाने पर कुछ देर…

1 hour ago

महाराज सिंह परिहार की रचनाएँ

अधूरी आज़ादी... आज़ादी है अभी अधूरी पाए न जनता रोटी पूरी तंत्र लोक से दूर हुआ है अवमूल्यन भरपूर हुआ…

1 hour ago

महाराज बहादुर `बर्क़’की रचनाएँ

तेग़े-हिन्दी तेग़े-हिन्दी[1] साफ़ करती सफ़े-दुश्मन [2]तू जिधर चलती है हाथ बाँधे तेरे साये में ज़फ़र [3]चलती है * * तुझ में वोह…

2 hours ago

महाराज कृष्ण सन्तोषी की रचनाएँ

व्यथा अभी भी ज़िन्दा है मेरे भीतर गुरिल्ला छापामार बेहतर दुनिया के लिए लड़ने को तैयार पर एक कायर से…

2 hours ago

महादेवी वर्मा की रचनाएँ

अलि! मैं कण-कण को जान चली अलि, मैं कण-कण को जान चली सबका क्रन्दन पहचान चली जो दृग में हीरक-जल…

2 hours ago

महामति की रचनाएँ

किरंतन मैं तो बिगडया विस्वथें बिछुडया, बाबा मेरे ढिग आओ मत कोई। बेर-बेर बरजत हों रे बाबा, ना तो हम…

2 hours ago