शिवांक की रचनाएँ

एक परी आए

एक परी आए,
गरमी को दूर भगाए!
परी हमारी दोस्त बन जाए
साथ हमारे खेले,
साथ हमारे गाए!
एक परी आए,
दुनिया की सैर कराए!
परी हमें कहानी सुनाए,
सबसे अच्छी नींद सुलाए,
सबका मन बहलाए!
एक परी आए,
होमवर्क कर जाए!

फुर्र चिड़िया फुर्र 

फुर्र चिड़िया फुर्र,
दाना खा के फुर्र!
पानी पी के फुर्र,
गाना गा के फुर्र!

Share