त्रिनेत्र जोशी

त्रिनेत्र जोशी की रचनाएँ

गर्मियाँ गुमसुम से इस मौसम में जब नहीं आती हवाएँ सूखे होंठों वाली पत्तियाँ बार-बार चोंचें खोलती चिड़ियाएँ हरियाली पर…

3 months ago