हुल्लड़ मुरादाबादी की रचनाएँ

हुल्लड़ मुरादाबादी की रचनाएँ

क्या करेगी चांदनी  चांद औरों पर मरेगा क्या करेगी चांदनीप्यार में पंगा करेगा क्या करेगी चांदनीचांद से हैं खूबसूरत भूख…

3 months ago