फ़ुज़ैल जाफ़री

फ़ुज़ैल जाफ़री की रचनाएँ

चमकते चाँद से चेहरों के मंज़र से निकल आए चमकते चाँद से चेहरों के मंज़र से निकल आए ख़ुदा हाफ़िज़…

8 months ago