अंजना वर्मा

अंजना वर्मा की रचनाएँ

चाय पीती वह गरीब औरत  हल्की बूँदा-बाँदी में भी लपेट ली है उसने शाल काली, मैली शाल देह पर डाले…

3 months ago