अनिल करमेले

अनिल करमेले की रचनाएँ

रोशनी बार-बार लौटा हूँ उस दर से जहॉँ मुझे नहीं जाना चाहिए था वहाँं कभी पहुँच नहीं पाया जहाँ मेरी…

3 months ago