अब्दुल ग़फ़ुर ‘नस्साख़’

अब्दुल ग़फ़ुर ‘नस्साख़’ की रचनाएँ

नक़्श-ए-दिल है सितम जुदाई का नक़्श-ए-दिल है सितम जुदाई का शौक़ फिर किस को आशनाई का चखते हैं अब मज़ा…

3 months ago