आसिफ़ ‘रज़ा’

आसिफ़ ‘रज़ा’ की रचनाएँ

दिल और तरह आज तो घबराया हुआ दिल और तरह आज तो घबराया हुआ है ऐ बे-ख़बरी चौंक कोई आया…

2 months ago