इरफ़ान सिद्दीकी

इरफ़ान सिद्दीकी की रचनाएँ

होशियारी दिल-ए-नादान बहुत करता है होशियारी दिल-ए-नादान बहुत करता है रंज कम सहता है एलान बहुत करता है रात को…

2 months ago