चेतन दुबे ‘अनिल’

चेतन दुबे ‘अनिल’की रचनाएँ

दर्द में मत दहो जो लिखा भाग्य में वो मिलेगा मुझे, तुम अमानत किसी की सलामत रहो। सारी खुशियाँ तुम्हारे…

5 months ago