ज़िया’ ज़मीर

ज़िया’ ज़मीर की रचनाएँ

देखी नहीं, सुनी नहीं ऐसी वफ़ा कि यार बस ‎ देखी नहीं सुनी नहीं ऐसी वफ़ा कि यार बस वादे…

4 months ago