ज़ेब गौरी

ज़ेब गौरी की रचनाएँ

इक पीली चमकीली चिड़िया काली आँख नशीली-सी ‎ इक पीली चमकीली चिड़िया काली आँख नशीली-सी । बैठी है दरिया के…

4 months ago