राशिद मुफ़्ती

राशिद मुफ़्ती की रचनाएँ

किस शय का सुराग़ दे रहा हूँ किस शय का सुराग़ दे रहा हूँ अंधे को चराग़ दे रहा हूँ…

2 weeks ago