शैलेन्द्र

शैलेन्द्र की रचनाएँ

जिस ओर करो संकेत मात्र  जिस ओर करो संकेत मात्र, उड़ चले विहग मेरे मन का, जिस ओर बहाओ तुम…

2 months ago