आदर्श गुलसिया

आदर्श गुलसिया की रचनाएँ

मेरी मोहब्बतें वो भुलाता कहां तलक मेरी मोहब्बतें वह भुलाता कहाँ तलक पत्थर का हर निशान मिटाता कहाँ तलक महबूब…

2 months ago