आशा कुमार रस्तोगी

आशा कुमार रस्तोगी की रचनाएँ

बासन्ती मनुहार  तुम राधा का अमर प्रेम, हो कान्हा कि मनुहार तुम्हीँ, तुम्हीँ व्योम की अभिलाषा, हो धरती का श्रंगार…

2 months ago