उमैर मंज़र

उमैर मंज़र की रचनाएँ

इल्म ओ फ़न के राज़-ए-सर-बस्ता को वा करता हुआ इल्म ओ फ़न के राज़-ए-सर-बस्ता को वा करता हुआ वो मुझे…

2 months ago