कलीम आजिज़

कलीम आजिज़ की रचनाएँ

दिन एक सितम, एक सितम रात करो हो  दिन एक सितम, एक सितम रात करो हो । वो दोस्त हो,…

2 months ago