कल्याण कुमार जैन ‘शशि’

कल्याण कुमार जैन ‘शशि’ की रचनाएँ

मेरी गुड़िया  मेरी गुड़िया बड़ी सयानी, पढ़कर आई है हल्द्वानी। सूरत से लगती सेठानी, दिनभर सुनती नई कहानी। उसके पीले…

2 months ago