कुमार पाशी

कुमार पाशी की रचनाएँ

रात! मेरे दिल में नाच रात--प्यारी रात-नाच चल रही है आज यादों की पवन--ऐ रात नाच आसमानों की बहन--ऐ रात…

2 months ago