कुमार विनोद

कुमार विनोद की रचनाएँ

कभी लिखता नहीं दरिया, फ़क़त कहता ज़बानी है  कभी लिखता नहीं दरिया, फ़क़त कहता ज़बानी है कि दूजा नाम जीवन…

2 months ago