ख़ालिद कर्रार

ख़ालिद कर्रार की रचनाएँ

बात ये है के कोई बात पुरानी भी नहीं  बात ये है के कोई बात पुरानी भी नहीं और इस…

3 months ago