उषा राय की रचनाएँ

अरुणा शानबाग का कमरा क्या केवल एक पत्ता है अरुणा शानबाग का कमरा जो समय की हवा पाकर उड़ जाएगा…

2 months ago

उषारानी राव की रचनाएँ

देखा है मैंने श्वेत,शुभ्र बादलों का समूह अनेक आकृतियाँ बनाता है विलीन हो जाता है देखा है मैंने शिल्पी को…

2 months ago

उषा यादव उषा की रचनाएँ

बदली-बदली-सी है सारी तस्वीर आज  बदली-बदली-सी है सारी तस्वीर आज ख़ुद ही तोड़ी है औरत ने ज़ंजीर आज दर्दे दिल…

2 months ago

उषा यादव की रचनाएँ

तू सो जा, मेरी लाडली तू सो जा, हां सो जा, मेरी लाडली, मेरे घर की बगिया की नन्ही कली!…

2 months ago

उल्लास मुखर्जी की रचनाएँ

भ्रष्ट समय में कविता जब ईमानदार को समझा जाता हो बेवकूफ़ समयनिष्ठ को डरपोक, कर्तव्यनिष्ठ को गदहा, तब कविता लिखना-पढ़ना-सुनना…

2 months ago

उर्मिलेश की रचनाएँ

बेवजह दिल पे कोई  बेवजह दिल पे कोई बोझ न भारी रखिये ज़िन्दगी जंग है इस जंग को जारी रखिये…

2 months ago

उर्मिला शुक्ल की रचनाएँ

बनानी है चिडिय़ा  नहीं अभी नहीं होगा अवसान अभी तो मुझे मांगना है आकाश से खुलापन और धरती से दृढ़ता…

2 months ago

उर्मिला माधव की रचनाएँ

वो जो रह-रहके चोट कर जाए वो जो रह-रहके चोट कर जाए, अपने अलफ़ाज़ से मुकर जाए, आशिक़ी,इश्क एक फजीहत…

2 months ago

उर्मिल सत्यभूषण की रचनाएँ

आज़ादी  इक खुशबू का नाम है, आज़ादी प्रकाश उछल उछल भुज पाश में भर ले तू आकाश पवन आज़ाद डोलती,…

2 months ago

उर्फी आफ़ाक़ी की रचनाएँ

फिर क्या जो फूट फूट के ख़ल्वत में रोइए फिर क्या जो फूट फूट के ख़ल्वत में रोइए यकसर जहान…

2 months ago