तंग इनायतपुरी की रचनाएँ

केहू कइसे बिचारे कटी जिन्दगी केहू कइसे बिचारे कटी जिन्दगी, का गजल के सहारे कटी जिन्दगी। जिन्दगी, जिन्दगी, जिन्दगी, जिन्दगी,…

4 weeks ago

ज्योति रीता की रचनाएँ

भीड़ या मॉब लिंचिंग हत्यारों ने ढूंढ लिया है हत्या का नया तरीका जिसमें साँप भी मरता है और लाठी…

4 weeks ago

ज्योति चावला की रचनाएँ

समझदारों की दुनिया में माँएँ मूर्ख होती हैं मेरा भाई और कभी-कभी मेरी बहनें भी बड़ी सरलता से कह देते…

4 weeks ago

ज्योति खरे की रचनाएँ

गाँधी के इस देश में गाँधी के इस देश में सुबह-सुबह पढ़ते ही समाचार शर्म से झुक जाते हैं सिर…

4 weeks ago

ज्योतिपुंज की रचनाएँ

सी SS याटौ सीSSयाटो थावा मांड्यौ है अणा छाना मना पड़िया हळफ ना वन वगड़ा मईं बदलाव आब्बा मांड्यौ है…

4 weeks ago

ज्योत्स्ना शर्मा की रचनाएँ

दोहे झूले, गीत, बहार सब, आम,नीम की छाँव। हमसे सपनों में मिला, वो पहले का गाँव॥ सूरज की पहली किरन,…

4 weeks ago

ज्योत्स्ना मिश्रा की रचनाएँ

औरतें अजीब होतीं हैं औरतें अजीब होंती हैं औरतें अजीब होती हैं लोग सच कहते हैं, औरतें अजीब होती हैं…

4 weeks ago

जोश मलीहाबादी की रचनाएँ

तू अगर सैर को निकले तो उजाला हो जाए तू अगर सैर को निकले तो उजाला हो जाए । सुरमई…

4 weeks ago

जोश मलसियानी की रचनाएँ

आग है आग तिरी तेग़-ए-अदा का पानी आग है आग तिरी तेग़-ए-अदा का पानी ऐसे पानी को मैं हरगिज़ न…

4 weeks ago

जोशना बनर्जी आडवानी की रचनाएँ

अंत्येष्टि से पूर्व हे देव मुझे बिजलियाँ, अँधेरे और साँप डरा देते हैं मुझे घने जंगल की नागरिकता दो मेरे…

4 weeks ago