अज़ीज़ तमन्नाई

अज़ीज़ तमन्नाई की रचनाएँ

हैयूला मह ओ साल के ताने बाने को ज़र्रीं शुआओं की गुल-कारियाँ मेरी नज़रों ने बख़्शी हैं आफ़ाक़ के ख़द्द-ओ-ख़ाल-ए-बहार-आफ़रीं…

3 months ago