अज़ीज़ ‘नबील’

अज़ीज़ ‘नबील’ की रचनाएँ

आँखों के ग़म-कदों में उजाले आँखों के ग़म-कदों में उजाले हुए तो हैं बुनियाद एक ख़्वाब की डाले हुए तो…

3 months ago