अतीक़ इलाहाबादी

अतीक़ इलाहाबादी की रचनाएँ

अगरचे लाई थी कल रात कुछ नजात हवा अगरचे लाई थी कल रात कुछ नजात हवा उड़ा के ले गई…

3 months ago