अमन चाँदपुरी

अमन चाँदपुरी की रचनाएँ

क्षणिकाएँ  बोरसी पुसोॅ मेॅ कोहोॅ के आगू रात भर डरी-डरी जलै छै बोरसी सोची केॅ सब केॅ जाड़ोॅ सेॅ बचौइयै…

2 months ago