अमृता भारती

अमृता भारती की रचनाएँ

एक सत्य मेरे जीवन की बर्फ़ परलिख जाते कुछ नामकुछ स्वप्नकुछ इन्द्रधनुषबार-बार --फिर टूटते बर्फ़ में सब पुँछ जाताया गल…

3 months ago